बिहार में हिन्दू लड़की पर हमले की घटना को दिया गया सांप्रदायिक रंग

वायरल होते पोस्ट में दावा किया गया है की हमला मुस्लिम युवकों ने किया था | ये दावा सरासर गलत है |
दावा: मुस्लिम युवकों ने किया हिन्दू लड़की पर चाक़ू से हमला रेटिंग: झूठ रोशन पांडे नामक एक शख्स ने अक्टूबर 13 को अपने फेसबुक प्रोफाइल पर सांप्रदायिक रंग लिए एक बेहद उकसाने वाला पोस्ट डाला जिसे सात हज़ार से ज़्यादा बार शेयर किया गया हैं | पोस्ट में एक घायल लड़की की तस्वीर है जो किसी हमले में बुरी तरह से घायल दिखाई दे रही है | दिल दहला देने वाली इन तस्वीरों के साथ पोस्ट पर ये सन्देश भी लिखा गया है: देख लो हिन्दूओं मूल्लो ने गोपालगंज जिला में इंटर के छात्रा को जान मारने के नियत से उसके शरीर पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला किया गया। सब देखते रह गए किसी ने आवाज तक नहीं उठाई। कब अपनी मां बहन बेटियों की इज्ज़त मूल्लो के हाथो लूटबाते रहोगे । शर्म करो।
पोस्ट में इस्तेमाल की गयी तस्वीर दरअसल बिहार के गोपालगंज ज़िले के नीहरुआ गाँव में रहने वाली एक लड़की की है | घटना अक्टूबर 10 की है जब उक्त लड़की पर उसी के गाँव के संदीप गिरी ने चाकू से हमला बोल दिया था | हमलावर फ़िलहाल पुलिस कस्टडी में है | बूम ने जब कटेया (जिला गोपालगंज) स्टेशन हाउस ऑफिसर गौतम कुमार से बात की तो उन्होंने कहा की इस तमाम घटना के पीछे कोई भी धार्मिक कोण नहीं हैं | गौतम के अनुसार पीड़िता (20 )और अभियुक्त संदीप (28) के बीच कुछ कहासुनी हुई जिसके बाद संदीप ने पीड़िता पर हमला बोल दिया | "अभियुक्त मुस्लिम नहीं बल्कि हिन्दू हैं | हालांकि हम तफ्तीश कर रहे हैं की अभियुक्त पीड़िता को पहले से जानता था या नहीं, प्रत्यक्ष प्रमाण यही दिखाते हैं की हमला संदीप ने ही किया था |" गौतम ने आगे कहा की घायल लड़की की तस्वीर आस-पास के क्षेत्रों में विभिन्न संदेशो के साथ वायरल की जा रही हैं और पुलिस डिपार्टमेंट इसे रोकने की कोशिश में जुटा हुआ है | आपको बताते चले की रोशन पांडे, जिसके फेसबुक प्रोफाइल पर यह पोस्ट वायरल किया गया हैं, खुद को हिन्दू समाज पार्टी का प्रदेश उपाध्यक्ष व हिन्दू क्रान्ति मोर्चा का संस्थापक बबताता है | इस प्रोफाइल से बेहद उकसाने वाले मुस्लिम-विरोधी पोस्ट अक्सर शेयर किये जाते है |
Show Full Article
Next Story