असम बाढ़: बाढ़ की पुरानी तस्वीरें वायरल

बूम ने पाया कि पिछले असम बाढ़ की तस्वीरों को हालिया बाढ़ के तस्वीरों के रूप में फैलाया गया है
AssamFloods

सोशल मीडिया पर हाल ही में असम में आई बाढ़ का दावा करते हुए कई तस्वीरें वायरल हुई हैं।
हैशटैग #AssamFloods के तहत, हमने पाया कि ट्विटर यूज़र इन तस्वीरों को हाल ही की तस्वीरें मानते हुए शेयर कर रहे थे। असम में बाढ़ से लगभग 44 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और कथित तौर पर 62 लोगों की मौत हुई है।

Tweet-Assam floods
( हाल की तस्वीरें होने का दावा करने वाला ट्वीट )

ट्वीट देखने के लिए यहां क्लिक करें और अर्काइव के लिए यहां देखें। इस लेख को लिखे जाने तक इस ट्वीट को 666 रीट्वीट और 747 लाइक्स मिले हैं।



फ़ैक्ट चेक

इमेज 1

( पुरानी तस्वीर )

हमने रूसी खोज इंजन यैंडेक्स का उपयोग करके एक रिवर्स इमेज खोज की और पाया कि तस्वीर पुरानी थी।

( यैंडेक्स परिणाम )

खोज परिणाम '2008 बिहार बाढ़' टाइटल के साथ परिणाम दिखाते हैं। परिणाम में 2016 से अमर उजाला का एक लेख भी आया, जिसका हेडलाइन है, ‘राज्य में बाढ़ के संबंध में बिहार सरकार की तैयारी।’

( 2016 इसी तस्वीर का उपयोग करते हुए अमर उजाला लेख )

इमेज 2

( जुलाई 2016 की तस्वीर )

एक गूगल रिवर्स इमेज खोज से पता चलता है कि जुलाई 2016 में असम में आई बाढ़ के दौरान यह तस्वीर कुलेंदु कलिता ने एएफपी के लिए ली थी।

( फोटो साभार: कुलेंदु कलिता / एएफपी / गेटी इमेज )

तस्वीर के विवरण में लिखा है, " 27 जुलाई, 2016 को गुवाहाटी के दक्षिण-पश्चिम में दक्षिण कामरूप में ब्रह्मपुत्र नदी पर बातहिदिआ में बाढ़ के पानी में डूबे हुए घर की छत पर बैठे भारतीय बच्चे।"

इमेज 3

( अगस्त 2017 की तस्वीर )

बाढ़ के पानी में तैरते हुए बाघ के शव की तस्वीर अगस्त 2017 से असम के काजीरंगा नेशनल पार्क से है।

( इंडियन एक्सप्रेस लेख में तस्वीर )

बूम ने समान तस्वीर को फ़ैक्ट चेक किया था जब असम में सितम्बर 2018 में आई बाढ़ के दौरान काजीरंगा नेशनल पार्क में मारे गए जानवरों की तस्वीरें|

पढ़ें: असम बाढ़: काजीरंगा में मरे 225 जानवरों की खबर 2017 की है

Claim Review :   यह तस्वीरें 2019 असम में आयी बाढ़ की हैं
Claimed By :  Twitter handles
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story