वायरल वीडियो में वन अधिकारी को पीटने वाला शख्स भाजपा MLC का बेटा नहीं

वन अधिकारी को पीटते हुए एक पुराना वीडियो हुआ फिर वायरल इस बार जोड़ा गया भाजपा के नेता के साथ
दावा: "कुर्नूल आंध्रप्रदेश के पुलिस सब इंस्पेक्टर के लिए BJP के M.L.C के बेटे की कार को चेकिंग के दौरान रोकने की वजह से न सिर्फ उस M.L.C के बेटे ने पीटा बल्कि उस पुलिस सब इंस्पेक्टर से गलती के लिए अपने पैर भी छुआए।" रेटिंग : झूठ सच्चाई : हालांकि यह वीडियो आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले से है जिसमे 6 लोगों ने वन अधिकारी ज्योति स्वरुप पर हमला किया गया और उसे अपमानित किया गया था।  इस घटना का बी.जे.पी के किसी लीडर से कोई सम्बन्ध नहीं । पुलिस अधिकारियो के अनुसार जब वन अधिकारी ने कुछ लोगो को शराब पीने से रोकने की कोशिश की तो उन्होंने उस पर हमला कर दिया । यह घटना नल्लामल्ला टाइगर रिजर्व के सुनीपेंटा में स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर घटित हुई थी । आंध्र प्रदेश पुलिस ने एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ वीडियो को गलत सन्दर्भ में वायरल करने के लिए मामला दर्ज़ किया था। इससे पहले इस न्यूज़ को यह कहकर वायरल किया गया था की इस घटना में स्थानीय राजनेता के बेटा भी शामिल था। यह वीडियो फ़ेसबुक , ट्विटर और व्हाट्सप्प पर कुछ महीने पहले वायरल हुआ था। फ़ेसबुक पर इसी सन्दर्भ में यह वीडियो धड़ल्ले से वायरल किया जा रहा है। इस वीडियो को कुल 52 हज़ार बार से ज़्यादा शेयर किया जा चुका है। इस पोस्ट को
'दिलावर शैख़'
नामक अकाउंट पर शेयर किया जा रहा है । बूम ने इस घटना की पड़ताल पहले भी की है जिसे यहाँ पढ़ा जा सकता है ।  इससे पहले इसी घटनाक्रम के सन्दर्भ में जिस राजनेता के बेटे पर आरोप लगाया गया था उसे तेलुगु देशम पार्टी  और कांग्रेस के साथ जोड़ा गया था। 6 आरोपियों की पहचान की जा चुकी है। आरोपियों के नाम राजू, श्रीनिवास, दयानंद, अभय रेड्डी, अशोक कुमार और कौसर है जो हैदराबाद के रहने वाले है। भारतीय दंड संहिता के प्रासंगिक खंडों के तहत उन पर मामला दर्ज किया गया था और न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।।
Show Full Article
Next Story