मोदी के खिलाफ पोस्टर पकड़ी महिलाओं की फर्जी तस्वीर हुई वायरल

नहीं, आयुषमान भारत योजना के शुभारंभ में इन महिलाओं ने 'मोदी चोर' वाले पोस्टर नहीं पकड़े थे।
फेसबुक पर एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है। इस तस्वीर में महिलाओं को पोस्टर पकड़े दिखाया गया है। पोस्टर में ‘मोदी चोर’ लिखा हुआ दिखाया गया है। लेकिन यह तस्वीर फर्जी है। मूल तस्वीर रांची में आयुषमान भारत योजना के लॉन्च पर खींची गई थी। इस कार्यक्रम में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने हिस्सा लिया था और बाद में उपस्थिति में महिलाओं द्वारा पकड़े गए पोस्टर पर शब्दों को जोड़ते हुए डिजिटल रूप से छेड़छाड़ की गई है। तस्वीर इस कैप्शन के साथ वायरल हो रही है, “70 साल में पहली बार #मोदीचोर के साथ रांची में # आयुषभारत # पीएमजेलॉंच” हिंदी वेबसाइट द
लल्लंनटॉप
ने तस्वीर की जांच की और पाया कि संपादित फोटो को 'द हेडलाइन' जैसे विभिन्न फेसबुक पेजों पर साझा किया गया था, जहां इसे 8.2 हजार बार शेयर किया गया है। साथ ही इसे ‘आजमगढ़ एक्सप्रेस’ पर भी साझा किया गया है। हालांकि, द हेडलाइन ने अपने पेज से इस फर्जी फोटो की पोस्ट हटा दिया है लेकिन इसे आज भी आजमगढ़ एक्सप्रेस पर देखा जा सकता है जहां इसे 6,500 शेयर प्राप्त हुए और एबीएमबी नामक एक पेज पर भी यह फर्जी पोस्ट देखी जा सकती है जहां इसे 20,000 से अधिक बार साझा किया गया है। 36,000 से अधिक फॉलोअर वाले 'राहुल गांधी फैन' नामक एक ट्विटर पेज ने भी उसी कैप्शन के साथ तस्वीर को ट्वीट किया है। बूम को एक उपयोगकर्ता
चंद्रशेखर राजपूत
द्वारा साझा की गई तस्वीर भी मिली, जिन्होंने कई इंटरनेट उपयोगकर्ता द्वारा तस्वीर की सच्चाई बताने के बाद भी फोटो हटाने से इंकार कर दिया। बूम, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (एमओएचएफडब्लू) के सत्यापित ट्विटर हैंडल पर मूल तस्वीर ढूंढने में सक्षम रही, जिसने इसे 23 सितंबर, 2018 को साझा किया था। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के शुभारंभ पर ये फोटो रांची में खींचे गए थे। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के फोटो में, महिलाओं को पोस्टर पकड़े देखा जा सकता है, जिसमें लोगो और इस योजना का नाम है।
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा द्वीट की गई तस्वीर फर्स्टपोस्ट और आजतक द्वारा लॉंच के संबंध में लेख में शामिल किया गया है।
Show Full Article
Next Story