भारत-अमेरिका के बीच 2016 में किया गया सैन्य अभ्यास कश्मीर में 'लाइव एक्शन' के रूप में वायरल

वीडियो उत्तराखंड के एक मॉक ड्रिल का है जिसे भारत और अमेरिका के बीच एक संयुक्त सैन्य अभ्यास के हिस्से के रूप में आयोजित किया गया था
Mock-drill-uttarakhand

उत्तराखंड में भारतीय और अमेरिकी सेना के बीच 2016 के संयुक्त अभ्यास के भाग के रूप में आयोजित मॉक ड्रिल का एक वीडियो झूठे दावे के साथ वायरल हो रहा है । दावा किया जा रहा है कि यह जम्मू और कश्मीर में चल रहे सैन्य अभियानों का वीडियो है ।

अचानक धारा 370 को निरस्त करने और राज्य का विशेष दर्जा रद्द करने वाले सरकार के फैसले के चलते यह वीडियो शेयर किया जा रहा है ।

57 सेकंड की वायरल क्लिप में दूरदर्शन (डीडी) समाचार का लोगो है जिसमें एक रिपोर्टर बता रहा है कि कैसे सुरक्षा बल संभावित आतंकवादियों के लिए घरों की तलाशी ले रहे हैं ।

WhatsApp message
(व्हाट्सएप्प मेसेज)

बूम को अपने व्हाट्सएप हेल्पलाइन नंबर (7700906111) पर वीडियो प्राप्त हुआ जिसमें हमसे इसकी सच्चाई के बारे में पूछा गया है । यह वीडियो फ़ेसबुक पर ‘लाइव एक्शन इन कश्मीर’ कैप्शन के साथ वायरल है ।

Viral on FB
फ़ेसबुक पर वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने यूट्यूब पर ‘जम्मू और कश्मीर ड्रिल डीडी न्यूज’ कीवर्ड के साथ ख़ोज की और वायरल वीडियो से मेल खाते दृश्यों के साथ एक लंबा वीडियो पाया । वीडियो 26 अक्टूबर, 2016 को डीडी न्यूज के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया था ।



मूल यूट्यूब वीडियो के शीर्षक का हिंदी अनुवाद है, ‘जानिए कैसे भारतीय सेना कश्मीर घाटी में ख़ोज अभियान चलाती है।’

वीडियो वर्णन में कहा गया है, ''क्या आप जानते हैं कि हमारे सुरक्षा बल जम्मू-कश्मीर घाटी में कॉर्डन और सर्च ऑपरेशन कैसे करते हैं? हमारी सेनाएं कैसे आगे बढ़ती हैं जब उन्हें एक इनपुट मिलता है कि आतंकवादी एक गाँव के एक घर में छिपे हुए हैं? हमारी संवाददाता नंदिता डागर बताती हैं।”

DD-Discription
( यूट्यूब विवरण )

मूल वीडियो 2.02 मिनट का है जिसे 57 सेकंड तक छोटा किया गया है और उस हिस्से को काट दिया गया है जिसमें एंकर दर्शकों को सूचित करता है कि डीडी समाचार संवाददाता नंदिता डागर रिपोर्ट करती है कैसे सुरक्षा बल जम्मू और कश्मीर में तलाशी अभियान चलाते हैं ।

हमने अक्टूबर 2016 के दौरान किए गए सैन्य अभियानों के लिए गूगल पर ख़ोज की और इंडिया-यूएस युद्ध अभ्यास पर इंडिया टुडे का लेख पाया । उत्तराखंड के रानीखेत में एक संयुक्त सैन्य अभ्यास किया गया था ।

India-Today-Article
(इंडिया टूडे का लेख)

युद्ध अभ्यास-2016 का फ़ोकस आतंकवाद की चुनौतियों से निपटना था जो 14 सितंबर 2016 को शुरू हुआ और 27 सितंबर 2016 को समाप्त हुआ था ।

यह युद्ध अभ्यास का 12 वां संस्करण था जो 2004 में शुरू हुआ था | लगभग 225 अमेरिकी सैनिकों और लगभग इतनी ही संख्या में भारतीय सैनिकों ने अभ्यास में भाग लिया था।

द हिंदू के रक्षा संवाददाता दिनाकर पेरी ने भी संयुक्त अभ्यास से तस्वीरें ट्वीट कीं । ट्वीट में चौथी तस्वीर वायरल वीडियो में काउंटर नंबर 50 सेकंड और डीडी न्यूज वीडियो में 1.15 पर दिखाई दे रहे मकान नंबर 3 से मेल खाती है ।



बूम ने 26 सितंबर 2016 को भारतीय सूचना ब्यूरो द्वारा युद्ध अभ्यास के बारे में एक ट्वीट भी पाया |



Claim Review :   लाइव एक्शन इन कश्मीर
Claimed By :  Facebook pages and WhatsApp
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story