भारत-पाक सैनिकों की यह तस्वीर हालिया नहीं, पुरानी है

वीडियो 2015 के कार्यक्रम का है जब भारतीय और पाकिस्तान सेना के बीच प्रथागत मिठाईयों का आदन-प्रदान हो रहा था

गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारतीय सेना और पाकिस्तान सेना द्वारा नियंत्रण रेखा पर मिठाइयों का आदान-प्रदान करते हुए दिखा रहा चार साल पुराना एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है ।

वीडियो को दिवाली के मौके पर शेयर किया जा रहा है जब दोनों सेनाओं ने त्योहार को चिह्नित करने के लिए पारंपरिक रूप से मिठाइयों का आदान-प्रदान करते है, लेकिन इस वर्ष दोनों देशों के बीच झड़पों को देखते हुए इसे रद्द कर दिया गया है ।

66 वें गणतंत्र दिवस (2015) के वायरल वीडियो में भारतीय और पाकिस्तान की सेनाओं के अधिकारियों को एक दूसरे को बधाई देते हुए जम्मू-कश्मीर के उरी में मिठाइयों का आदान-प्रदान करते हुए दिखाया गया है । फ़ेसबुक पर वायरल पोस्ट में भ्रामक दावा किया जा रहा है, जिसमें कहा जा रहा है कि, “भारतीय और पाकिस्तानी सेना ने मिठाई और शुभकामनाओं का आदान-प्रदान किया । किसी भी गोदी मीडिया चैनल के पास देश को यह दिखाने का समय नहीं है । कितने अख़बारों के फ्रंट पेज पर यह खबर थी । अपना बखान करने वाले, 56 इंच का सीना का दावा करने वाले 2024 से पहले राजनीतिक लाभ के लिए ना जाने कितने जीवन का बलिदान करेंगे सावधान !!!! "



कैप्शन में दावा किया गया है कि दोनों देशों की सेनाएं मिठाइयों का आदान-प्रदान कर रही हैं और एक-दूसरे के साथ मित्रवत हैं लेकिन मीडिया अन्यथा दावा करती है ।

फ़ैक्ट चेक

वीडियो की कीफ़्रेम के साथ रिवर्स इमेज सर्च से हम 2015 के एक ख़बर तक पहुंचे, जब पाकिस्तान सेना और भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में कॉमन पोस्ट पर मिठाइयों की टोकरी का आदान-प्रदान किया था ।

26 जनवरी, 2015 को बिजनेस स्टैंडर्ड में प्रकाशित एक कहानी कहती है, “लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर भारतीय और पाकिस्तानी सैनिकों ने सोमवार को 66 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर मिठाइयों का आदान-प्रदान किया । सेना की 12 इन्फैंट्री ब्रिगेड की एक इकाई ने श्रीनगर-मुज़फ़्फ़राबाद रोड पर उरी सेक्टर के कॉमन पोस्ट में अपने पाकिस्तान समकक्षों के साथ मिठाइयों का आदान-प्रदान किया ।”

(बिजनेस स्टैंडर्ड के लेख का स्क्रीनशॉट)

बिजनेस स्टैंडर्ड लेख की प्रकाशन तारीख 26 जनवरी, 2015 है । कहानी में वह वीडियो भी प्रकाशित है, जो वायरल पोस्ट में दिखाया जा रहा है ।

अमर उजाला में उसी घटना की एक तस्वीर है जिसमें उस अधिकारी को देखा जा सकता है जो वायरल वीडियो में मौजूद है ।

आईएएनएस की एक ख़बर में कहा गया है कि भारतीय सेना ने पुंछ जिले में लाइन ऑफ कंट्रोल के पास पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन करने के बाद परंपरा को रद्द कर दिया । अटारी बाग चौकी पर परंपरा जारी थी ।

बूम यह सत्यापित नहीं कर पाया कि उरी में कामन पोस्ट पर परंपरा को रद्द कर दिया गया है नहीं । हमने प्रतिक्रिया के लिए भारतीय सेना से संपर्क किया है और अगर हमें जवाब मिलता है तो हम कहानी अपडेट करेंगे ।

Show Full Article
Next Story