यूपी में पत्नी की हत्या के आरोपी की मॉब लींचिंग, वीडियो वायरल

फतेहपुर पुलिस ने बूम को बताया कि शख़्स ने अपनी पत्नी की हत्या की थी । पत्नी के नाराज़ रिश्तेदारों ने शख़्स को मारा
UP Mob-Lynching

उत्तर प्रदेश के भीड़ द्वारा एक व्यक्ति पर हमला करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है । कथित तौर पर इस व्यक्ति ने अपनी पत्नी की हत्या की थी । बूम ने फतेहपुर पुलिस से बात की, जिसने पुष्टि की कि वीडियो गाजीपुर का है और व्यक्ति जिसने अपनी पत्नी का क़त्ल किया था उसे पत्नी के रिश्तेदारों ने पीटा ।

परेशान करने वाले वीडियो में पुरुषों के एक समूह को एक बेहोश आदमी को लाठी से पीटते हुए दिखाया गया है और इकट्ठा भीड़ घटना देख रही है । वीडियो को फ़ेसबुक और ट्विटर पर हिंदी में कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा है, जिसमें लिखा है - “ये तालिबानी भीड़ या अफ़ग़ानिस्तान या #पाकिस्तान की नही है ये #भीड़Indiaउत्तरप्रदेश के #फ़तेहपुर की है और यहाँ संविधान का नही #भीड़ का #क़ानून चलता है।पत्नी के हत्या।आरोपी को पीट-पीट कर #मार डाला।ये जो तमाशा देख रहे हरामखोरदोगलेभड़वेकुत्ते सबसे बड़े हिजड़े है।”

FB post on lynching
( एआईएमआईएम शहबाज भदोही द्वारा अपलोड किया गया वीडियो )

हमने फतेहपुर जिले की पुलिस से संपर्क किया, जिसने पुष्टि की कि वीडियो उत्तर प्रदेश के गाजीपुर का है । सर्किल अधिकारी श्रीपाल यादव के अनुसार, जाफरगंज की घटना 30 अक्टूबर की है और भीड़ द्वारा मारे गए व्यक्ति की पहचान नसीर कुरैशी के रूप में हुई है । यादव ने कहा, छत्तीसगढ़ के रहने वाले कुरैशी अपनी पत्नी से मिलने गाजीपुर आए थे, जहां दोनों के बीच विवाद हुआ । "गुस्से में, कुरैशी ने अपनी पत्नी अफसरी को मौत के घाट उतार दिया और उसकी मां और बहन को भी घायल कर दिया, जो उसे बचाने की कोशिश कर रही थी ।" उन्होंने कहा कि कुरैशी ने बचने की कोशिश की । पड़ोसियों, उनमें से ज्यादातर अफसरी के रिश्तेदारों, ने हंगामा सुना और उसकी पिटाई की ।

यादव ने कहा, "पिटाई कर रहे लोग कुरैशी के पत्नी के रिश्तेदार हैं । एफआईआर दर्ज होने के बाद, हमने घटना के एक वीडियो से आरोपी की पहचान की और 2 नवंबर को पांच लोगों को गिरफ़्तार किया । गिरफ़्तार आरोपी हैं - अब्दुल्ला कुरैशी, ओसामा कुरैशी, शनावाज कुरैशी, सलमान कुरैशी और रफीक कुरैशी ।”

उन्होंने कहा कि सभी आरोपी अफसरी के चाचा और चचेरे भाई हैं । "सभी परिवार एक दूसरे के करीब रहते थे और पीड़ित के घर से शोर सुनते ही वहां आ गए । उन्होंने उस पर ईंटों, डंडों और पत्थरों से हमला किया जिससे उसकी मृत्यु हो गई । आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है ।"

फतेहपुर पुलिस ने भी एक प्रेस नोट ट्वीट करके मामले के विवरण की पुष्टि की है ।



Show Full Article
Next Story